Friday, October 23, 2009

हमेशा के लिए...

तेरे दिए कुछ उपहार
चंद मेल जो स्टार्ड (तारांकित) थे,
आज से पहले,

वो अनगिनत जी टॉक चैट,
कुछ हसीं और कुछ ग़मगीं,

पल तेरी यादों के,
वो तस्वीर तेरी जो,
वालपेपर हुआ करती थी,
कभी मेरे डेस्कटॉप का,

आज सब शिफ्ट + डिलीट हो गए...
चिता जल रही थी,
तेरे साथ के ख़यालों की,
उसी में ये भी जल गए...
हमेशा हमेशा के लिए...

और तुम भी हो गए,
शिफ्ट + डिलीट जिंदगी से मेरी,
हमेशा हमेशा के लिए...
Post a Comment